एक पागल औरत मां बनी

एक पागल औरत मां बनी, और इस बच्चे का कोई बाप चिन्हित नहीं है, हाय बदनसीबी अगर यह औरत सही होती तो यह भी एक रेप केस की तरह सामने आता, क्योंकि पागल है, इसे नहीं पता कि रेप क्या है, मगर करने वाले ने खूब चुना ना मुआवला बना ना बवाल हुआ  ऐसे न जाने कितने है,                 

प्रसव के दौरान पास से गुजरती कोई लड़की किसी महिला ने इसकी मदद नहीं की, मदद तो दूर की बात है पास भटकी भी नहीं,   ये है औरत को औरत की चिंता, टोटल ढकोसला नौटंकी की माहिर, ना मानवता, ना लगाव, ना ममता पास से गुजरते हुए कुछ लड़कों से इसकी तकलीफ देखी नहीं गई, मानवता के नतीजन प्रसव के दौरान बच्चे को जन्म देने में हर प्रकार की संभव सहायता की साथ पढ़ने वाली लड़कियों से इन लड़कों ने मदद मागी,  तो इनकार सुना, और सुनी नसीहत कहने लगी घृणा आती है ऐसे लोगों से, तुम भी दूर रहो, मगर लड़कों ने मदद की और कोशिश को अंजाम दिया,  बच्चे के लिए फरिश्ता बनाकर ईश्वर ने भेजा इन लड़कों को….                                                                     

आंखों देखी….. It’s true guyz….. Plz pardon me… And help poors. – स्टेरी महेश राजगोर वाढिया कच्छ

Leave a Reply

Your email address will not be published.

error: