अहमदाबाद मणिनगर राजस्थान जैन स्थानक 1 जनवरी 2022

जिन्होंने मातृभूमि की रक्षा के लिए कफन का टुकड़ा बांधा  उनको गोलियों से मौत के घाट उतारा उनअंग्रेजों का यह नया दिवस हमारी गुलामी का प्रतीक है उक्त विचार व्यक्त करते हुए राष्ट्रसंत कमल मुनि कमलेश ने कहा की इस दिन को उल्लास से मनाना शहीदों के  जख्मों  पर नमक छिड़कने के समान है उन्होंने स्पष्ट कहा कि जिसको देश का स्वाभिमान है 31 दिसंबर का बहिष्कार करेगा और इससे काले दिवस के रूप में मनाएगा

मुनि कमलेश ने कहा कि नेपाल के अंदर आज भी विक्रम संवत के रूप में संपूर्ण काम का सरकार का भी किया जाता है हिंदुस्तान में क्यों नहीं राष्ट्रसंत ने बताया कि भारतीय पंचांग के आधार पर ही ग्रह नक्षत्र का फलादेश आता है जिसके पीछे आध्यात्मिक स्वास्थ्य उज्जवल भविष्य जुड़ा हुआ है अंग्रेजी कैलेंडर से नहीं

जैन संत ने कहा कि समुद्र में ज्वार और भाटा पूर्णिमा पर आता है आज के दिन हम संकल्प लें भारतीय विक्रम संवत को स्वाभिमान दिवस के रूप में संपूर्ण जनता मनाए जनता से अपील करते कहा कि 31 दिसंबर की नव वर्ष के रूप में शुभकामना ना भेजें और स्वीकार भी ना करें

अखिल भारतीय जैन दिवाकर विचार मंच नई दिल्ली के हजारों कार्यकर्ताओं ने विक्रम और वीर संवत पूरे देश में स्वाभिमान दिवस मनाने के  का संकल्प लिया राष्ट्रीय मीडिया प्रभारी महावीर बोरा अहमदाबाद जिला अध्यक्ष मनोज डांगी अहमदाबाद अध्यक्ष प्रकाश चंडालिया जैन कॉन्फ्रेंस साधु संत सेवा प्रकोष्ठ की राष्ट्रीय उपाध्यक्ष मूलचंद नाहर भंवरलाल नाहर का जैन श्रावक संघ मणिनगर की ओर से स्वागत किया गया – सववाददाता फारूक मेमण खेरालु

Leave a Reply

Your email address will not be published.

error: