गांधीनगर महावीर भवन 19 जनवरी 2021

आपके कार्यों को देख कर विरोधी भी आलोचना के साथ उसकी प्रशंसा करें यही सबसे बड़ी सफलता का मापदंड है उक्त विचार राष्ट्र संत कमलमुनि कमलेश ने आचार्य हस्तीमल जी महाराज की जन्म जयंती पर संबोधित करते कहा कि जो आलोचना से घबराता है सफलता उसको 3 काल में नहीं मिल सकती

उन्होंने कहा कि नाम पद प्रतिष्ठा और किंतु परंतु में जो अटक जाता है वह जिंदगी में कभी सफलता प्राप्त नहीं कर सकता मुनि कमलेश ने बताया कि लक्ष्य के प्रति जिसमें जुनून सवार हो जाता है सफलता पाने के लिए और किसी की आवश्यकता नहीं होती राष्ट्रसंत ने कहा कि अकेला व्यक्ति अपने बलबूते पर मंजिल को प्राप्त कर सकता है शर्त है अदम्य साहस के साथ निरंतर प्रयास करें

अखिल भारतीय जैन दिवाकर विचार मंच नई दिल्ली शाखा गुजरात की ओर से श्री मूलचंद जी नाहर श्रीमती लीला नाहर जो बिना किसी भेदभाव के सभी संप्रदाय के संतों की राजस्थान हॉस्पिटल में निस्वार्थ भाव से सेवा करते हैं श्रीमती शैल जैन धर्मपत्नी धर्मेंद्र जैन जिनेंद्र और यंग लीडर के संपादक का श्रावक रत्न से सम्मानित करते हुए शाल ओढ़ाकर अवार्ड दिया गया इस प्रसंग पर श्री नरेंद्र छाजेड़ और सुरेश चौरड़िया जी को भी सम्मानित किया गया श्री वर्धमान स्थानकवासी जैन श्रावक संघ गांधीनगर ने भी अभिनंदन किया – सववाददाता फारूक मेमण खेरालु

Leave a Reply

Your email address will not be published.

error: