अहमदाबाद ओढव राजेंद्र रोड 11 जनवरी 2021

पर्व आत्मा के आनंद की अनुभूति और प्राणी मात्र को प्रसन्नता से ओतप्रोत करने के लिए आते हैं उक्त विचार राष्ट्रसंत कमल मुनि कमलेश ने मकर सक्रांति के 10 दिवसीय जीव दया शिविर को संबोधित करते कहा कि हमारे व्यवहार से किसी भी आत्मा को तनिक भी कष्ट होता है वह धर्म भी पाप में बदल जाता है

उन्होंने कहा कि इंसान ही नहीं प्रकृति के प्रत्येक प्राणी मुस्कान से भर उठे ऐसा प्रयास करना ही धार्मिक का पालन करना है मुनि कमलेश ने बताया कि मकर सक्रांति पर कितने ही पक्षी पतंग की डोर से गायल हो जाते हैं और उसमें जो आनंद मानता है वह शैतान से कम नहीं है राष्ट्रसंत ने स्पष्ट कहा कि आज एक बालक के 30 टांके आए हैं पतंगबाजी से घायल होने के कारण

जैन संत ने बताया कि विश्व का कोई भी धर्म निर्दोष को सताने की इजाजत नहीं देता दुखी प्राणी की सेवा करने से बड़ा और कोई धर्म नहीं है अखिल भारतीय जैन दिवाकर विचार मंच नई दिल्ली गुजरात अहमदाबाद की ओर से मेन चौराहे पर पक्षी बचाओ अभियान के अंतर्गत 10 दिवसीय शिविर का आयोजन किया जा रहा है जिसमें घायल पक्षियों को लाने के लिए एंबुलेंस चिकित्सा के लिए डॉक्टर 24 घंटे उपलब्ध रहेंगे विस्तार से जानकारी कल प्रदान की जाएगी उक्त जानकारी राष्ट्रीय मीडिया प्रभारी महावीर बोरा ने प्रदान की

Leave a Reply

Your email address will not be published.

error: