अहमदाबाद राजस्थान जैन स्थानक 13 जनवरी 2021

आत्म साधना और शासन की प्रभावना में महासती वृंद का अभूतपूर्व योगदान रहा है उक्त विचार राष्ट्रसंत कमल मुनि कमलेश ने महासती चरित्र प्रभा जी की  श्रद्धांजलि सभा को संबोधित करते कहा कि इतिहास साक्षी है अधिकांश संतों के निर्माण का श्रेय  सभी महा सती जी को जाता है न्होंने कहा कि श्री संघ में साधु साध्वी श्रावक और श्राविका चारों का महत्वपूर्ण योगदान है किसी का कम और ज्यादा मूल्यांकन करना अज्ञानता का प्रतीक है मुनि कमलेश ने कहा कि हम सभी मिलकर महावीर के शासन को संगठित और सशक्त करें जैन संत ने कहा कि संप्रदायवाद की वाडाबंदी करने वाले जिनशासन के कपूत हैं अखंड शासन का निर्माण करना है

राष्ट्रसंत ने स्पष्ट बताया कि बाहर से हमें जितना खतरा नहीं है उतना भितरघात करने वालों से है उनसे  सावधान रहना अत्यंत जरूरी है महा सती आनंद प्रभा जी ने श्रद्धांजलि अर्पित की महासती किरण सुधा जी सती जी का एक्सीडेंट हुआ था अस्पताल से छुट्टी हो गई स्वास्थ्य में निरंतर सुधार है उन्होंने मुनि कमलेश से वार्तालाप की यंग लीडर के संपादक धर्मेंद्र कुमार जी विशेष रूप से उपस्थित थे अखिल भारतीय जैन दिवाकर विचार मंच नई दिल्ली शाखा अहमदाबाद की ओर से उनका स्वागत किया गया – सववाददाता फारूक मेमण खेरालु

Leave a Reply

Your email address will not be published.

error: